B.A First Year - कितनी बार पेपर होगा, नंबर और सेमेस्टर की पूरी जानकारी

B.A. First Year के पेपर सेमेस्टर वाइज होने की जानकारी न होने की वजह से लगभग बहुत से विद्यार्थियों को परेशानियों का सामना कारण पड़ा। लेकिन आपको बता दें कि अब भारत के सभी यूनिवर्सिटी ने B.A. की परीक्षा को सेमेस्टर वाइज कर दिया है। B.A. में परीक्षा कराने के लिए इस नई प्रणाली को लागू कर दिया गया है लेकिन ज्यादातर बच्चों को अभी परीक्षा का पैटर्न भी नही पता है, इस आर्टिकल में आपको पूरी जानकारी दी गई है कि B.A. की परीक्षा कब कब और कैसे कैसे होगी।
$ads={1}

B.A. में कितनी बार परीक्षा देना होगा ?

अब BA में पढ़ने वाले नए विद्यार्थियों को जिन्होंने 2021 में दाखिला लिया है, उन्हें हर साल 4 परीक्षा देने होंगे। जिनमें दो मुख्य छमाही (Semester) परीक्षा और दो टेस्ट परीक्षा होगा। छमाही परीक्षाओं में विद्यार्थियों को दूसरे एग्जाम सेंटर पर जाकर परीक्षा देना होगा जबकि दोनो टेस्ट परीक्षा अपने कॉलेज पर ही देना है।
इससे पहले B.A. में सिर्फ एक मुख्य परीक्षा ही देना होता था परंतु 2021 के बाद अब जितने भी विद्यार्थी B.A. करेंगे उन्हें हर साल चार परीक्षा देने होंगे।

परीक्षा का सिलेबस क्या होगा

B.A. परीक्षा में पहले जहाँ साल में एक बार 6 पेपर होते थे वहीं अब 6–6 महीने पर 3–3 पेपर होंगे। सिलेबस वहीं रहेंगे जो विषय भाग 1 और भाग 2 करके पढ़े जाते थे अब उनमें से प्रथम भाग को वर्ष के प्रथम सेमेस्टर में और द्वितीय भाग को वर्ष के द्वितीय सेमेस्टर में पढ़ाए जाएंगे। इस तरह थोड़े थोड़े सिलेबस करके पढ़ने पर विद्यार्थियों पर इसका भार भी कम हो जायेगा और विद्यार्थी अच्छे से पढ़ सकेंगे।

परीक्षा में अंक देने की नई प्रणाली

B.A. परीक्षा में अंक देने में काफी बदलाव आया है अब विद्यार्थियों को उनकी उपस्थिति के अनुसार भी अंक दिए जाएंगे। विद्यालय विद्यार्थियों को उनकी उपस्थिति, आचरण और टेस्ट परीक्षा के आधार पर 25 अंक देगा और 75 अंक विद्यार्थी के द्वारा दिए जाने वाले सेमेस्टर परीक्षा से दिए जायेंगे। इस प्रकार कुल 100 अंक पर एक विषय का रिजल्ट बनेगा। लेकिन जिन विषयों का प्रैक्टिकल होता है उन्हें प्रैक्टिकल के अंक भी मिलेंगे। जैसे कि भूगोल में प्रैक्टिकल होता है और उसके लिए भी अंक मिलते हैं।

B.A. Second Year के विद्यार्थी के लिए

इस समय जो विद्यार्थी अभी B.A. Part 2 या BA Part 3 में हैं उनके लिए परीक्षा में कोई भी बदलाव नहीं किया गया है। परीक्षा कराने की इस नई प्रणाली को 2021 में लागू किया गया है इसलिए जितने भी बच्चे 2021 में एडमिशन कराएं हैं सिर्फ उन्हें इस प्रणाली से परीक्षा देना होगा। और 2021 के बाद जितने भी दाखिला होंगे उनका एग्जाम इसी पैटर्न पर कराया जायेगा। जिन भी विद्यार्थी का दाखिला 2021 से पहले यानी कि 2020 या 2019 में हुआ है उन्हें इस प्रणाली पर परीक्षा नहीं दिलाया जायेगा।
$ads={2}

BA करने के फ़ायदे

जैसा कि पहले ही बताया जा चुका है कि BA एक स्नातक स्तर का कोर्स है। इसे करने के बाद आप बीएड, LLB वगैरह करने के लिए योग्य हो जाते हैं। इनके अलावा आप लगभग सभी उच्च दर्जे के सिविल सेवाओं एवं अन्य सरकारी नौकरियों के लिए भी योग्य हो जाते हैं जैसे - IAS, IPS, PCS, दरोगा, क्लर्क, लोअर पीसीएस इत्यादि।

BA में आपको मानविकी विषय पढ़ाए जाते हैं जो अंततः आपको किसी भी सरकारी नौकरी के परीक्षा में मदद करते हैं। जैसे की अगर आप इतिहास, भूगोल और राजनीति से बीए करते हैं तो यह विषय सरकारी नौकरियों की तैयारी करने में काफी मदद करेंगे।
क्योंकि ये विषय GS का अधिकतम भाग कवर करते हैं। तो अगर आप भविष्य में कोई सरकारी नौकरी करना चाहते हैं तो बीए आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

BA के लिए नई किताबें

इस नई प्रणाली के लागू होने के बाद अब किताबो में भी कुछ कुछ बदलाव किया गया है, पहले किसी भी विषय की किताबें एक वर्ष के लिए भाग 1, भाग 2 करके आती थी लेकिन अब किताबों को 1–1 सेमेस्टर के लिए खरीदना होगा। BA Part 1 में दोनो सेमेस्टर के लिए आपको 3–3 किताबें खरीदनी होंगी। प्रथम सेमेस्टर के लिए प्रथम सेमेस्टर की किताबें खरीदनी होगी। किसी भी सेमेस्टर का किताब सिर्फ उसी सेमेस्टर मात्र के लिए होगा दूसरे सेमेस्टर में आपको द्वितीय सेमेस्टर की किताबें पढ़नी होगी।

M.A के लिए परीक्षा प्रणाली

छमाही परीक्षा (Semester Exam) प्रणाली को अभी MA के लिए नहीं लागू किया गया है। MA के विद्यार्थी उसी पुराने प्रणाली से परीक्षा देंगे। लेकिन 2024 में जो विद्यार्थी M.A. में दाखिला लेंगे उन्हें भी इस प्रणाली पर परीक्षा देना होगा क्योंकि 2024 में यह प्रणाली M.A में भी लागू हो जायेगी।


और ज्यादा जानकारी के लिए आप अपने कॉलेज की यूनिवर्सिटी की ऑफिशियल वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।
Post a Comment (0)
Previous Post Next Post