अब WhatsApp चलाने के लिए पैसा देना पड़ेगा, सोशल मीडिया के लिए सरकार बना रही है नया कानून!

हमारे देश में इंटरनेट और सोशल मीडिया से संबंधित एक बिल पास होने वाला है। उसके बाद इनके लिए ने कानून बन जायेंगे। यह बिल इसी वर्ष नवंबर या दिसंबर में लागू हो जाएगा। और अब इस कानून के तहत WhatsApp, Telegram, Facebook आदि अन्य सभी एप्लीकेशन को कई प्रकार के लाइसेंस लेने पड़ेंगे।
$ads={1}
हमारे देश पहले पहले कॉलिंग यानी फोन से बात करने की सुविधा देने के लिए टेलीकॉम कंपनियों यानी Sim बेचने वाली कंपनियों को एक लाइसेंस लेना पड़ता था। उसके बाद ही वह हमे कॉलिंग की सुविधा दे सकती थी।
लेकिन WhatsApp या Messanger को कॉलिंग की सुविधा देने के लिए किसी भी प्रकार की लाइसेंस की जरूरत नहीं पड़ती थी। अब यह लाइसेंस हर एक उस एप्लीकेशन को भी लेना पड़ेगा जो ऑडियो या वीडियो कॉलिंग फीचर देता है।
यह लाइसेंस काफी महंगा पड़ता है इस वजह से अब WhatsApp और Telegram जैसी एप्लीकेशन जो बिल्कुल फ्री में हमे यह सुविधा देती थी। उन्हें इस खर्च की भरपाई के लिए किसी न किसी तरह से पैसा कमाना पड़ेगा।
इसके लिए वो अब चाहें तो हमें प्रचार (ads) दिखाकर या डायरेक्ट मासिक या वार्षिक दर से हमसे पैसा चार्ज करेंगी। जो काफी सोचने वाली बात है। अगर WhatsApp और Messanger या Duo वीडियो कॉलिंग के लिए हमसे डायरेक्ट पैसा लेती हैं। तो यह काफी सोचने वाली बात है। इनका इस्तेमाल सब कोई नहीं कर पायेगा।

ऐसा भी हो सकता है कि बहुत सी एप्लीकेशन पर कॉलिंग फीचर बंद हो जायेगा।

ऐसा क्यों हो रहा है?

इससे पहले हमारे देश में इंटरनेट के लिए जो कानून बना था वह 2002 में ही बना था। उस समय इंटरनेट उतना ज्यादा फैला नहीं था। लेकिन अब इंटरनेट काफी बदल चुका है। और साइबर क्राइम, हैकिंग वगैरह को ध्यान में रखते हुए यह बिल पास किया जा रहा है।
$ads={2}
अभी कानून बना नहीं है सरकार लोगो से उनके विचार मांग रही है। 10 अक्टूबर तक आप भी अपने विचार सरकार के साथ शेयर कर सकते हैं। 10 तारीख के बाद ही इस बिल पर कार्य चालू हो जायेगा।
इस नियम के आने के बाद सोशल मीडिया और इंटरनेट पर खास कर प्राइवेसी और डाटा चोरी को लेकर आपको काफी बदलाव भी देखने को मिलेंगे।
Post a Comment (0)
Previous Post Next Post