5G लॉन्च होने से पक्षियों पर कितना ख़तरा बढ़ेगा, क्या ख़त्म हो जायेंगे ये ख़ूबसूरत जीव!

नमस्कार, आज हम 5G तकनीकी के बारे में बात करने वाले हैं, कि क्या 5G आने से चिड़ियों का जीवन खतरे में पड़ जायेगा, क्या वो मर जायेंगी, क्या इससे हवाई जहाज क्रैश हो सकते हैं। और आखिर में हम यह जानेंगे कि 5G आने से क्या फायदे होंगे और हमे कितनी स्पीड मिलेगी।

5G लॉन्च होने से पक्षियों पर कितना ख़तरा बढ़ेगा?

बहुत से लोगो का मानना है इंटरनेट की वजह से और ज्यादा फास्ट टावर यानी 4G या 5G के टावर लगाने से चिड़ियाएं मर रही हैं। जबकि बहुत से लोगो का मानना है कि ऐसा बिलकुल भी नहीं है। 4G और 5G से चिड़ियों को कोई खतरा नहीं है। इनका कहना है कि पक्षियों के मरने और विलुप्त होने के वजह दूसरे है। जैसे कीटनाशक, ग्लोबल वार्मिंग, प्रदूषण इत्यादि।

इसको हम एक उदाहरण से समझते हैं। जब कीटनाशक खेतों में डाले जाते हैं तो खेत के ज्यादातर कीड़े मर जाते हैं और जो बचे होते हैं वो जहरीले हो जाते हैं। पक्षी कीड़ों को ही खाते हैं, और इससे भी पक्षी मर सकते है।

पेड़ पौधों की कटाई होने की वजह से बहुत कम पेड़ ही गांवों और शहरों में बचे रहते हैं। इस वजह से पक्षियों को घोंसले बनाने में उपयुक्त जगह नहीं मिल पाता है और उनके घोंसले और अंडे अन्य मांसाहारी पक्षियों द्वारा खत्म कर दिए जाते हैं।

ऐसे ही बहुत सारे अन्य वजह है जो चिड़ियों के जीवन के लिए खतरा पैदा करता है। लेकिन इनमें टावर और इंटरनेट का कहीं भी असर नहीं दिखता है।

अन्य रिसर्च

ऐसे बहुत से रिसर्च लोगो द्वारा किया गया है कि क्या सच में टावर की वजह से चिड़ियाएं मरती हैं। बहुत से रिसर्चर का यह मानना है कि इसका कोई भी असर नहीं पड़ता और बहुत का मानना है कि इसका भी पक्षियों सहित मनुष्यों पर भी घातक असर पड़ता है। लेकिन इसका कोई भी पुख्ता सबूत नहीं है।

5G आने के फ़ायदे

5G का उद्घाटन प्रधानमंत्री द्वारा हो चुका है। 5G आने के बाद इंटरनेट की स्पीड काफी तेज हो जायेगी एवं दूर दराज के इलाकों में जहां फाइबर केबल पहुंचाना मुश्किल था। अब वहां भी हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्शन मिल पाएगा।
Post a Comment (0)
Previous Post Next Post